बावनगजा जी

बावनगजा चुलगिरी सिद्धक्षेत्र है। यहा से इंद्रजीत, कुम्भकर्ण एवं अनेक मुनि मोक्ष गये है।जिसका उल्लेख निर्वाण काण्ड में भी आता है।

बड़वानी बडनयर सुचंग। दक्षिण दिशा गिरी चुल उतंग।

इंद्रजीत अरु कुम्भ जु कर्ण। ते बंदो भवसागर तर्ण।।

अर्थात बड़वानी नगर के निकटवर्ती चुलगिरी से रावण के पुत्र इंद्रजीत एवं रावण के अनुज भाई कुम्भकर्ण मुनि अवस्था मे तप करते हुये मोक्ष प्राप्त किया है। अतः यह क्षेत्र सिद्धक्षेत्र अथवा निर्वाण क्षेत्र कहा जाता है।

यहा पर जैन धर्म के आध्य प्रवर्तक तीर्थंकर भगवान श्री ऋषभदेवजी की विश्व की सबसे ऊँची 84 फीट (बावन52 हाथ अर्थात 1008” इंच) खड्गासन अति प्राचीन प्रतिमा पर्वत में ही उत्कीर्ण है। 

ज्यादा  जानकारी के लिए यहाँ click करे।

बावनगजा जी इतिहास

पूर्वकाल के दो लेख संवत 1223 (सन 1166) भाद्रपद वदी 14 शुक्रवार के है।लेखो मे मुनि लोकनंद, देवनंद और उनके शिष्य रामचंद्र की प्रशंसा करते हुये उनके द्वारा यहा मंदिर निर्माण कराने का उल्लेख किया गया है। ज्यादा  जानकारी के लिए यहाँ click करे।

भारत की सर्वोन्नत प्रतिमा बावनगजाजी

भारत के ह्रदय स्थल मध्यप्रदेश के बड़वानी जिला मुख्यालय से 8 किलोमीटर दुर दक्षिण मे सतपुड़ा की सुरम्य पर्वत श्रृंखलावलियो के मध्य में बावनगजा स्थित है। यहा की प्राक्रतिक छँटा बहुत ही मनोरम है। यहा पर जैन धर्म के आध्य प्रवर्तक तीर्थंकर भगवान श्री ऋषभदेवजी की विश्व की सबसे ऊँची खड्गासन अति प्राचीन प्रतिमा पर्वत में ही उत्कीर्ण है। प्रतिमा बावन 52 हाथ प्रमाणित होने की वजह से इसे व क्षेत्र को सम्पूर्ण भारत में बावनगजा के नाम से जाना जाता है। सहस्त्राब्दियों से साधनावस्थित, इस मन मोहिनी प्रतिमा में वीतरागता, सौम्यता, कला, भाव प्रवणता की ऊँचाइयाँ भी विध्यमान है। प्रतिमा का शिल्प विधान अदभुत तथा समानुपातिक है। प्रत्येक अंग प्रत्यंग सुडौल है। अनाम शिल्पकार के कुशल हाथो ने अपनी प्रवण छेणी और हथोड़ो से पर्वत के पाषाण पटल पर सिरोभाग से चरण तल तक जो वीतरागता के भाव साकार किये है उसे देख श्रद्धालु व कला मर्मज्ञ अपलक घंटो निहारते रहते है।

प्रतिमाजी का नाप:

प्रतिमा की कुल ऊँचाई                          - 84 फीट
एक भुजा से दुसरी भुजा का विस्तार    - 24 फीट
भुजा से अंगुली तक                               - 46 फीट  2 इंच
कमर से एड़ी तक                                  - 47 फीट
सिर का घेरा                                          - 26 फीट
पैर के पंजे की लम्बाई                         - 13 फीट 09 इंच
नाक की लम्बाई                                   - 03 फीट 11 इंच
आँख की लम्बाई                                  - 03 फीट 03 इंच
कान की लम्बाई                                   - 09 फीट 08 इंच
एक कान से दुसरे कान की दुरी          - 17 फीट 06 इंच
पैर के पंजे की चौड़ाई                         - 05 फीट

IMG-20170907-WA0079